Saint Ravi Das will always inspire the society-Prime Minister

0
147

संत रविदास ने सद्भाव, समानता और सामाजिक सशक्तिकरण के लिए जो अनमोल संदेश दिया, वह हमें सदा प्रेरित करता रहेगा-नरेन्द्र मोदी
रितेश श्रीवास्तव अंशू/मुख्य संवाददाता/क्लीन मीडिया टुडे

Prime Minister paid floral tributes at the Ravi Das Janm Sthal

वाराणसी, 19 फरवरी:क्लीन मीडिया टुडेः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत रविदास मंदिर प्रांगण में सीरगोवर्धन की सभा में मंगलवार को रैदासियों को संबोधित करते हुए परम पूज्य संत रविदास जी को उनकी जयंती पर नमन किया और कहा कि सद्भाव, समानता और सामाजिक सशक्तिकरण के लिए उन्होंने जो अनमोल एवं अमिट संदेश दिया, वह हमें सदा प्रेरित करता रहेगा।
उपस्थित विशाल जनसमूह के बीच प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तक भेदभाव रहेगा, हम एक दूसरे से नहीं जुड़ पाएंगे, समाज में समता नहीं आएगी।
Prime Minister at Ravi Das Janm Sthal

संत रविदास मंदिर के आसपास के विकास हेतु पहले चरण में 50 करोड़ रुपये से विस्तारीकरण और सुंदरीकरण की योजना का प्रधानमंत्री ने किया शिलान्यास किया।
Prime Minister at Ravi Das Janm Sthal

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को गुरु रविदास जयंती के अवसर पर सीरगोवर्धन स्थित श्री संत रविदास मंदिर में विधिवत दर्शन पूजन करने के पश्चात् रैदासियों को सम्बोधित किया। उन्होंने अनुयायियों समेत हर देशवासियों को रविदास जयंती की बधाई देते हुए कहा, ‘‘मुझे प्रसन्नता है कि उनके आशिर्वाद से अपना वादा निभाने फिर आया हूं। वर्ष 2016 में आज आज के दिन मुझे मत्था टेकने और लंगर चखने का मौका मिला था। तभी यहां के विकास की बात कही थी। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में सरकार बनी तो मैने उनसे डीपीआर की बात कही। जिसकी मांग आप दशकों से कर रहे थे। जिसकी आवश्यकता महसूस हो रही थी। सरकारें आती रहीं मगर आशा पूरी नहीं हुई। उसे पूरा करने की ओर आज शुभ शुरुआत हुई है।’’
उन्होंने कहा कि पहले चरण में 50 करोड़ रुपये से विस्तारीकरण और सुंदरीकरण किया जायेगा। बीएचयू से सड़क को सजाया संवारा जाएगा। यहां पर 12 किमी का एक और रास्ता बनेगा। गुरु की कांसे की प्रतिमा लगेगी और कम्युनिटी हाल बनेगा। परियोजना पूरी होने के बाद आने वाले लाखों लोगों को सारी सुविधा एक जगह मिलेगी। संत की जन्म स्थली करोडों लोगों के लिए आस्था का विषय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here